spot_img
25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

अभिनेत्री भूमि पेडनेकर ने ‘World Nature Conservation Day’ पर जताई चिंता

नई दिल्ली। आज विश्व प्रकृति सरंक्षण दिवस है। इसीलिए आज के दिन दुनियां भर में अलग अलग तरीकें से लोग इस दिन को मनाते है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर लोग मैसेज या फोटोज शेयर करके अपनी अपनी बात रखते हे। ऐसे में बॉलीवुड की भी कई सारे सेलेब्स पर्यावरण को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है। तो साथ में अभिनेत्री भूमि पेडनेकर ने भी एक इंटरव्यू के दौरान प्रकृति के लिए अपनी चिंता जाहिर की है और भूमि ने लोगों को इसके प्रति जागरुक होने को लेकर भी बात कही हैं।

Video: सोशल मीडिया पर ‘अजय देवगन’ का भावुक पोस्ट हुआ वायरल

हर साल 28 जुलाई को विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस मनाया जाता है। देश पहले से ही कोरोना महामारी से जूझ रहा है और कई राज्य बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा झेल रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार कई भूकंप भी आ चुके हैं। इसी बात की चिंता बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर को भी सता रही है। भूमि ने विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस को लेकर कई अहम बातें कही हैं जो वाकई सोचने पर मजबूर कर रही हैं।

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस (World Nature Conservation Day) के मौके पर भूमि ने आने वाली पीढ़ी को लेकर अपनी बात रखी है। भूमि पेडनेकर ने कहा, ‘हम उस कगार पर पहुंच गए हैं जहां चीजें नियंत्रण से बाहर हो गई हैं। यदि देखें कि आपके आसपास क्या हो रहा है तो आपको भी परेशानी होगी। जैसे जर्मनी, महाराष्ट्र के कुछ हिस्से और चीन में अचानक बाढ़ आ जाती है, यह सब काफी परेशान कर देने वाला है। अमेरिका के जंगल में आग लगी है, कनाडा में लू चल रही है। अब हमे समझ लेना चाहिए कि ये चीजे हमारे नियंत्रण से बाहर हो गई हैं और आने वाली पीढ़ियों के लिए यह अच्छा नहीं होगा।’

भूमि ने आगे कहा कि, ‘आज का दिन यह महसूस करने के लिए ही है कि हमारे पास जो कुछ भी बाकी है उसे बचा कर रखना होगा। यह हमारी आने वाली पीढ़ियों के प्रति हमारा कर्तव्य है। हमारे नेताओं और आम जनता को यह स्वीकार करने की आवश्यकता है कि हम अभी भी जो कर रहे हैं वह ठीक नहीं है। हमें प्रकृति और विभिन्न प्रजातियों के साथ रहने की आवश्यकता है। हम मनुष्य इतने स्वार्थी हैं, हम अक्सर यह भूल जाते हैं कि हम प्रकृति और अपने संसाधनों का दुरुपयोग नहीं कर सकते।

एक्ट्रेस Kangana Ranaut ने फिल्मों के लिए किया ये काम, पोस्ट करके दी जानकारी

भूमि का कहना है, ‘उनके सामने कई चुनौतियां हैं खासकर प्रकृति के संरक्षण की गंभीरता पर लोगों की शिक्षा को लेकर। सबसे कठिन यही होता है कि जब आप लोगों को इसके बारे में बताते हैं तो वो कहते हैं कि यह वास्तविक नहीं है। ऐसे लोगों के लिए मैं कहना चाहूंगी कि वे झूठ में जी रहे हैं और सच का सामना नहीं करना चाहते हैं।’ हालांकि, भूमि ने यह भी कहा, ‘मुझे लगता है कि काफी लोगों ने इसके बारे में सोचना शुरू कर दिया है और उनकी सोच में बदलाव आया है। कोरोना काल में हमने एक सबक सीखा है कि इसने अपना भयावह रूप दिखाया और लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया। अब लोग प्रकृति के प्रति दयालु हो रहे हैं, लेकिन यह पर्याप्त नहीं है, हमें और भी बहुत कुछ करना होगा।’

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।
Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,595,617
Confirmed Cases
Updated on October 3, 2022 6:23 AM
528,673
Total deaths
Updated on October 3, 2022 6:23 AM
38,574
Total active cases
Updated on October 3, 2022 6:23 AM
44,028,370
Total recovered
Updated on October 3, 2022 6:23 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles