spot_img
16.1 C
New Delhi
Tuesday, December 6, 2022

आयुषी चौधरी मर्डर केस सुलझा, पिता ने ही की थी बेटी की हत्या

आयुषी चौधरी मर्डर केस सुलझा, पिता ने की हत्या, मां ने किया सहयोग: पुलिस

आयुषी चौधरी हत्याकांड : आयुषी चौधरी हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गई है. पुलिस के मुताबिक, उसे उसके पिता ने गोली मारी थी। मां ने भी घटना का समर्थन किया। हत्या उनके दिल्ली के बदरपुर स्थित घर में की गई थी। बाद में शव को लाल सूटकेस में पैक कर 150 किलोमीटर दूर मथुरा जिले के राया इलाके में यमुना एक्सप्रेसवे पर फेंक दिया गया। आयुषी का शव 18 नवंबर को बरामद किया गया था।

घटनाओं की समयरेखा –  किसी दूसरी जाति के लड़के से था अफेयर

22 साल की आयुषी का कथित तौर पर भरतपुर निवासी छत्रपाल नाम के लड़के से अफेयर था। दोनों की शादी एक साल पहले आर्य समाज मंदिर में हुई थी। आयुषी अपने माता-पिता के घर पर रह रही थी। परिजन उनकी शादी के खिलाफ थे। 17 नवंबर की दोपहर आयुषी का अपनी मां से झगड़ा हो गया था। इस बात की जानकारी मां ने पिता को दी। गुस्से में पिता घर आया। उसने आयुषी को समझाया, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थी। इससे नाराज होकर पिता ने लाइसेंसी रिवॉल्वर से आयुषी के सीने में दो गोलियां मारी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पिता ने पॉलिथीन खरीदकर शव को सूटकेस में पैक किया

आयुषी की हत्या के बाद पिता ने घर के पास की दुकान से पॉलीथिन खरीदी। दोपहर में शव को सूटकेस में बंद कर दिया। देर रात 3 बजे सूटकेस कार में डालकर 150 किमी दूर मथुरा के पास यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुबह 5 बजे फेंक दिया। इसके बाद वे सात बजे दिल्ली चले गए। पिता कार चला रहा था और मां आगे की सीट पर बैठी थी।

दो दिन बाद मां और भाई आए और पहचानी गई

रविवार को मथुरा के पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे आयुषी की मां ब्रजवाला और भाई आयुष ने शव की शिनाख्त की. शिनाख्त के बाद परिजन बिना किसी से बात किए सीधे पुलिस के साथ कार में सवार हो गए। मीडिया ने सवाल पूछने की कोशिश की, लेकिन मां और भाई ने कुछ नहीं कहा।

मां और भाई पहचानते वक्त रो रहे थे

आयुषी बीसीए में पढ़ रही थी। पहचान करते हुए मां और भाई की आंखों से आंसू छलक पड़े। वे एक दूसरे से लिपट कर रोने लगे। आयुषी हत्याकांड में सबसे चौंकाने वाली बात यह रही कि पुलिस खुद परिवार के पास पहुंची। यानी परिवार ने आयुषी के लापता होने की सूचना पुलिस को नहीं दी थी. न ही गुमशुदगी दर्ज की गई।

ऐसे पहुंची पुलिस आयुषी

दिल्ली से मथुरा पुलिस को फोन किया गया। इसमें सूटकेस में मिली मृत बच्ची के परिजनों के बारे में जानकारी दी गई. पुलिस दावा कर रही है कि कॉल एक मुखबिर ने की थी। हालांकि, एक बात यह भी सामने आ रही है कि आयुषी के एक परिचित ने मथुरा पुलिस को फोन कर सूचना दी l

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,674,874
Confirmed Cases
Updated on December 6, 2022 7:20 PM
530,633
Total deaths
Updated on December 6, 2022 7:20 PM
5,436
Total active cases
Updated on December 6, 2022 7:20 PM
44,138,805
Total recovered
Updated on December 6, 2022 7:20 PM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles