spot_img
15.1 C
New Delhi
Saturday, February 4, 2023

Business News: अगले साल 80K का लेवल छू सकता हैं BSE SENSEX

नई दिल्ली: हिंदुस्तान (Hindustan) में कामकाज कर रही कंपनियों का प्रॉफिट (Profit) साइकिल बदलने के कारण से ‘हिंदुस्तान’ दुनिया (World) के अन्य बाजारों की तुलना में शानदार प्रदर्शन करने की तरफ बढ़ रहा है। इसके साथ ही हिंदुस्तान में तुलनात्मक रूप से उतार-चढ़ाव भी अधिक रहने की आशंका है। मॉर्गन स्टैंले के इक्विटी स्ट्रेटेजिस्ट ‘रिदम देसाई’ (Ridham Desai) ने ऐसी जानकारी दी है। ‘रिदम देसाई’ ने कहा कि – “Hindustan अब संरचनात्मक रूप से तेजी के दौर में घुस (Enter) चूका हूँ। इसमें कंपनियों का नया प्रॉफिट साइकिल (Profit Cycle) सामने आने की उम्मीद हो सकती है।

World News: इजरायल ने बनाई किलर ‘रोबोट सेना’, ले सकती है इंसानों की जगह
bse sensex
bse sensex

केंद्र सरकार (Central Government) की मददगार नीतियां, लोगों की आमदनी (Income) में बढ़ोतरी, शेयर बाजार (Share Market) में नई कंपनियों की लिस्टिंग और विश्व के अन्य देशों में ब्याज दरों में गिरावट के कारण से हिंदुस्तान का शेयर बाजार नई ऊंचाई छूने की तरफ बढ़ सकता है। इस हिसाब से इस समय निवेश करने वाले निवेशक अगले एक साल में 30 प्रतिशत का रिटर्न कमा सकते हैं।

Kerala: आज से दो महीने के लिए खुल जाएंगे सबरीमाला मंदिर के कपाट
bse_stockmarket
bse_stockmarket

आगामी कुछ वर्ष तक हिंदुस्तान में कंपनियों की कमाई 27 प्रतिशत सालाना की दर से बढ़ने की उम्मीद है। इसके साथ ही शेयर बाजार हर वर्ष16 प्रतिशत के करीब बढ़ सकता है। इस हिसाब से इस वर्ष दिसंबर में सेंसेक्स 70,000 के लेवल को छू सकता है। अगर वित्त वर्ष 2022 के अर्निंग की बात करें तो कंपनियों की कमाई के अनुमान में कमी दर्ज करी गई है और यह 7 प्रतिशत तक रह सकती है, किन्तु, वर्ष 2023 की बात करें तो उसमें कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।

sensex
sensex

इंडेक्स का रिटर्न वास्तव में कंपनियों की कमाई में बढ़ोतरी के हिसाब से ही रह सकता है। मॉर्गन स्टैनले का मानना है कि – अगर शेयर बाजार में तेजी जारी रहती है तो वर्ष 2022 में यह 80,000 के लेवल को छू सकता है। जबकि, शेयर बाजार को कई प्रकार की मदद की जरूरत पड़ेगी।

इसमें हिंदुस्तान का ग्लोबल बांड सूचकांक में शामिल होना भी है।इस कारण से हिंदुस्तान में 20 अरब डालर का निवेश आ सकता है। अगर कोरोना वायरस संकट नहीं आता और देश में कारोबारी गतिविधियां सामान्य रूप से चलती रहती हैं तो इस लक्ष्य को पाया जा सकता है। डॉलर और कच्चे तेल की कीमत एक रेंज में रहती है और आरबीआई का नियंत्रण इसी तरह बना रहता है तो सेंसेक्स इस लेवल को आसानी से छू सकता है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।
Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,683,122
Confirmed Cases
Updated on February 4, 2023 1:00 AM
530,741
Total deaths
Updated on February 4, 2023 1:00 AM
1,764
Total active cases
Updated on February 4, 2023 1:00 AM
44,150,617
Total recovered
Updated on February 4, 2023 1:00 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles