spot_img
15.1 C
New Delhi
Saturday, February 4, 2023

Farm Laws: कृषि कानून वापसी बिल Lok Sabha के बाद Rajya Sabha से भी पास

नई दिल्ली: आज संसद (Parliament) के ‘शीतकालीन सत्र’ (Winter Session) का पहला दिन था और पहले ही दिन तीनों कृषि कानूनों की वापसी पर संसद ने मुहर लगा दी हैं। विपक्ष (Opposition) के हंगामे के दौरान विवादास्पद तीनों कृषि कानून की वापसी का विधेयक संसद के दोनों सदनों, लोकसभा (Lok Sabha) और राज्यसभा (Rajya Sabha) से पारित हो चूका हैं। विपक्ष तीनों कृषि कानूनों (Farm Laws) की वापसी वाले विधेयक पर चर्चा कराने पर अड़ गया था। किन्तु, सरकार इस पर राजी नहीं हुई और आनन-फानन में यह विधेयक दोनों सदनों से पारित करा दिया गया हैं। अब यह विधेयक ‘राष्ट्रपति’ के पास भेजा जाएगा और इसी के साथ तीनों विवादित कृषि कानून ख़त्म हो जाएंगे।

UP में अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे Akhilesh Yadav
andolan
andolan
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लगाया आरोप

कांग्रेस नेता ‘राहुल गांधी’ ने आरोप लगाया कि – बिना चर्चा के सदन में विधेयक पारित हुआ हैं। यह तीनों कृषि कानून किसानों के अधिकारों पर अतिक्रमण था। राहुल गाँधी ने कहा कि – ये किसानों की जीत है, किन्तु जिस प्रकार से बिना चर्चा के ये सब हुआ, वो दिखाता है कि सरकार चर्चा से डरती है। विपक्ष इस पर चर्चा चाहता था, किन्तु सरकार बहस से डरती है।

Science News: चंद्रमा पर Nuclear Plant लगाने के लिए सुझाव मांग रही है NASA
Rajya-Sabha
Rajya-Sabha

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया हैं कि – सत्र के आरम्भ से पहले जब बिजनेस एडवाजरी कमिटी की बैठक हुई थी. तब विपक्षी दलों ने एकमत से सरकार से यह मांग की थी कि – तीन कृषि कानून वापसी वाले विधेयक पर चर्चा कराना आवश्यक है। क्योंकि पीएम मोदी के कहने के बाद भी किसानों ने आंदोलन वापस नहीं लिया है और उनके कई मुद्दे जस के तस हैं। सरकार को इस पर चर्चा करानी चाहिए थी। विपक्ष इस पर चर्चा कराने को एकमत था, किन्तु सरकार ने किसी की नहीं सुनी। सरकार ने यह विधेयक जैसे पारित कराया था, उसी तरह वापस भी ले लिया।

लोकसभा में कृषि कानून वापसी विधेयक को चार मिनट के अंदर पारित कर दिया गया हैं। इसे दोपहर 12:06 बजे पेश करा गया और विपक्ष की मांगों को अनसुना करते हुए 12:10 बजे पारित करा लिया गया हैं। लोकसभा में विपक्षी नेताओं ने विधेयक पर चर्चा नहीं कराने पर आपत्ति जताई हैं। राज्यसभा में इसे संक्षिप्त चर्चा के बाद पारित कर दिया गया हैं। सदन में विपक्ष के नेता ‘मल्लिकार्जुन खड़गे’ अपनी बात पूरी भी नहीं कर पाए थे। विपक्ष ने दावा किया कि – सरकार किसानों की उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य के मुद्दे से बचने के लिए चर्चा कराने से डरती रही, जो किसान आंदोलन के समय उनकी प्रमुख मांग रही है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।
Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,683,122
Confirmed Cases
Updated on February 4, 2023 2:01 AM
530,741
Total deaths
Updated on February 4, 2023 2:01 AM
1,764
Total active cases
Updated on February 4, 2023 2:01 AM
44,150,617
Total recovered
Updated on February 4, 2023 2:01 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles