spot_img
17.1 C
New Delhi
Sunday, November 27, 2022

गोरखपुर कांडः प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता के परिवार से मिले अखिलेश यादव

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के रामगढ़ताल थाना पुलिस की पिटाई से मरने वाले कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता (Manish Gupta Murder) का शव पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया गया। मनीष की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रूह कंपा देने वाली सच्चाई सामने आई है। मनीष के शव का पोस्टमॉर्टम डॉक्टरों के विशेष पैनल द्वारा किया गया था। मामला चूंकि पुलिस हिरासत में संदिग्ध मौत का था, लिहाजा कई घंटे चली पोस्टमॉर्टम प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई गई।

Punjab Congress Crisis: पंजाब की सियासत में सियासी बवाल

गोरखपुर में रामगढ़ताल थाना में पुलिस की हिरासत में पिटाई से हुई कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता का शव गुरूवार को आखिरकार अंतिम संस्कार कर दिया गया। 53 घंटे बाद मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी दर्द बयां करने की आश्वासन के बाद मृतक की पत्नी व परिवारिजनों ने यह निर्णय लिया और सुरक्षा के बीच भैरव घाट में अंतिम क्रिया सम्पन्न कराई गई। मृतक के आवास पर भारी पुलिस बल तैनात है। मनीष गुप्ता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट बताती है कि उनकी एक आंखे के ऊपर भी गंभीर चोट मारी गई है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के गोरखपुर कांड के पीड़ित परिजनों से मिलने कानपुर पहुंचे और प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला। मृतक कारोबारी मनीष गुप्ता के परिवार से मिलने आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पहुंचे हैं। इससे पहले आज सुबह से ही समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मनीष गुप्ता के घर के बाहर मौजूद हैं। सपा कार्यकर्ताओं द्वारा यहां नारेबाजी की गई तो मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने उन लोगों से इस मामले का राजनीतिकरण न करने की अपील की थी। इस मामले में अखिलेश यादव आज मनीष गुप्ता के परिवारवालों और उनकी पत्नी से मिले. अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपये मदद देने का ऐलान किया है।

 

सपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मीडिया से बात करते हुए कहा, गोरखपुर में पुलिस की बर्बरता ने मनीष गुप्ता की जान ली है। ये बहुत ही दुखद और निंदनीय है। आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने एनकाउंटर (मुठभेड़) की जिस हिंसक संस्कृति को जन्म दिया है, यह उसी का दुष्परिणाम है। घटना में संलिप्त लोगों पर हत्या का मुकदमा चलाया जाए और उत्तर प्रदेश को हिंसा में धकेलने वाले इस्तीफा दें।

मुख्यमंत्री बदलने के बाद कई गुटों में बंटी पंजाब कांग्रेस!

उनकी पत्नी मीनाक्षी गुप्ता ने कहा, “मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमारा सहयोग किया है। हमारी FIR दर्ज़ नहीं हो रही थी उन्होंने हमारा केस दर्ज़ कराया है।” अब आजीविका मुझे ही चलानी होगी इसलिए मैं अपनी सरकारी नौकरी के लिए अनुरोध कर रही हूं। मैं मामले को यहां(कानपुर) ट्रांसफर कराना चाहती हूं।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।
Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,672,304
Confirmed Cases
Updated on November 27, 2022 1:02 AM
530,608
Total deaths
Updated on November 27, 2022 1:02 AM
6,480
Total active cases
Updated on November 27, 2022 1:02 AM
44,135,216
Total recovered
Updated on November 27, 2022 1:02 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles