spot_img
13.1 C
New Delhi
Sunday, February 5, 2023

Maharashtra: NCP बनाम BJP के बीच में फंसी Congress-ShivSena

नई दिल्ली: सियासत में कभी राजा तो कभी उनके किरदार लड़ते हैं। और इस सियासत का वास्तविक ‘दंगल’ तो महाराष्ट्र (Maharashtra) में चल रहा है। जहां PM Modi, केंद्रीय गृहमंत्री ‘Amit Shah’ के राजनीतिक चक्रव्यूह को तोड़ने की कसरत कर रहे मराठा सरदार और NCP के दिग्गज़ ‘शरद पवार’ के बीच में ‘ShivSena’ और ‘Congress’ दोनों फंस गई हैं। Congress के नेता भी मानते हैं कि – NCP के नेता और राज्य सरकार के मंत्री ‘Nawab Malik’, पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस, NCB के अधिकारी ‘समीर वानखेड़े’ के बीच चल रही ‘विवाद’ जितनी दिखाई दे रही है, उससे कहीं ज्यादा गहरी दिखाई पड़ रही हैं। इस पुरे मसले पर केंद्रीय मंत्री ‘नारायण राणे’ की टीम के सदस्य भी मुस्करा कर चुप हो जाते हैं।

UP में अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे Akhilesh Yadav
shivsena
shivsena

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री ‘अनिल देशमुख’ इस दंगल के भेंट चढ़ चुके हैं। पूर्व गृहमंत्री ‘देशमुख’ महाराष्ट्र की राजनीति में शरद पवार के वफादार नेताओं में हैं। ‘शरद पवार’ ने उन्हें आरोपों के मकड़जाल से लेकर जांच एजेंसियों के प्रकोप से बचाने की हर संभव प्रयास की।किन्तु, सफल नहीं हो पाए। अनिल देशमुख के बाद शरद पवार के भतीजे ‘अजीत पवार’ पर जांच एजेंसियों ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

UP: नई हवा है जो BJP है वही सपा है – Congress
congress
congress

आने वाली कुछ ऐसी ही विसंगतियों से बचने के लिए महाराष्ट्र सरकार के मंत्री ‘नवाब मलिक’ ने मोर्चा खोल रखा है। ‘नवाब मलिक’ इस समय जो भी कुछ कर रहे हैं, उसकी डिजाइन से शरद पवार और उद्धव ठाकरे पूरी तरह परिचित हैं। जीतकर निकले तो ‘एनसीपी’ शेर और अगर मुंह की खानी पड़ी तो ‘शरद पवार’ की मुश्किलें भी बढ़ना तय है। ‘अनिल दुबे’ महाराष्ट्र और खासकर मुंबई बीजेपी की राजनीति में गहरी रुचि लेते हैं। वह कहते हैं कि – अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ‘नवाब मलिक’ आखिर इतना खुलकर कैसे बोल रहे हैं? क्या शरद पवार या फिर उद्धव ठाकरे को कुछ भी पता नहीं है?

Ayodhya में भव्य दीपोत्सव, 32 घाटों पर जलेंगे 12 लाख से ज्यादा दीये

‘देवेन्द्र फडणवीस’ ने हाल के मामलों में देर से प्रतिक्रिया दी, वहीं मुख्यमंत्री ‘उद्धव ठाकरे’ बहुत संभल – संभल कर चल रहे हैं। कोई तो कारण है? कांग्रेसी नेता का कहना है कि ‘2019’ में उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बने थे। तब से अब तक कई बार एनसीपी के और बीजेपी के साथ जाने और राज्य में नई सरकार के गठन की  चर्चा और अफवाह दोनों खूब उठी। लेकिन, राजनीतिक स्थिति जस की तस बनी हुई है।

 

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।
Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,683,250
Confirmed Cases
Updated on February 5, 2023 8:12 AM
530,745
Total deaths
Updated on February 5, 2023 8:12 AM
1,792
Total active cases
Updated on February 5, 2023 8:12 AM
44,150,713
Total recovered
Updated on February 5, 2023 8:12 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles