spot_img
13.1 C
New Delhi
Sunday, February 5, 2023

UP Election: BJP में शामिल हो सकते हैं समाजवादी पार्टी के 17 विधायक

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री ‘अमित शाह’ (Amit Shah) ने एक योजना (Plan) तैयार करी है। वह सीक्रेट योजना (Secret Plan) भाजपा का पुराना आजमाया हुआ फॉर्मूला है और उसी फॉर्मूले ने BJP को बीते 7 सालों में हर चुनाव में जीत दिलाई है। एक बार फिर उसी रणनीति के तहत BJP ने 2022 का उत्तर प्रदेश चुनाव जीतने की अपनी सियासी बिसात बिछा दी है।

UP में अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे Akhilesh Yadav

bjp
bjp

पिछले 7 वर्षों में उत्तर प्रदेश में 2 लोकसभा (Loksabha) के और 1 विधानसभा (Assembly) के चुनाव (Election) हो गए हैं। हर चुनाव में BJP ने बंपर जीत हासिल की है। गृह मंत्री ‘अमित शाह’ ने एक बार फिर जब 2022 के चुनाव पास आ गए हैं। तो उत्तर प्रदेश की सारी कमान अपने हाथ में ले ली है। वाराणसी (Varansi) में जब Party की अब तक की सबसे बड़ी बैठक को उन्होंने संबोधित किया – तो साफ तौर पर अपने उसी फॉर्मूले को आजमाने के लिए कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया हैं। इसके बलबूते वह लगातार जीतते चले आ रहे हैं।

UP: नई हवा है जो BJP है वही सपा है – Congress
sp
sp

जो रणनीति 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपनाई उसने भाजपा को पहले लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक बहुमत दिलाया। फिर उसी फॉर्मूले पर चलते हुए भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनाव में अब तक की सबसे बड़ी और ऐतिहासिक जीत दर्ज की हैं। जब 2019 के लोकसभा चुनाव आए और सपा-बसपा का गठबंधन हो गया । तब भी ये कहा गया कि – शायद भाजपा के लिए मुश्किल खड़ी हो जाएगी। किन्तु, अनुमानों को धता बताते हुए भाजपा ने एक बार फिर लोकसभा चुनाव में शानदार जीत दर्ज करी हैं, और इसके पीछे भी भाजपा की वही सीक्रेट योजना काम आया हैं।

Kerala: आज से दो महीने के लिए खुल जाएंगे सबरीमाला मंदिर के कपाट

भाजपा का वो सीक्रेट प्लान है। दूसरे दलों में सेंधमारी कर जीत का माद्दा रखने वाले विधायकों, पूर्व विधायकों और पूर्व सांसदों को अपनी पार्टी में शामिल करा लेना हैं। जब 2014 के लोकसभा चुनाव देश में हो रहे थे, उससे पहले भी भाजपा ने यही रणनीति अपनाई थी. कांग्रेस के तमाम बड़े दिग्गज भाजपा में शामिल हुए थे और जब बारी उत्तर प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव की आई तो भी भाजपा ने इसी फॉर्मूले को अपनाया। और बीएसपी, कांग्रेस और सपा में जबरदस्त सेंधमारी की। भाजपा का वह फॉर्मूला कितना हिट रहा है। 2014 में जहां बसपा के राज्यसभा सदस्य रहे ‘एस पी सिंह बघेल’ ने भाजपा जॉइन की तो वहीं 2015 में बसपा के कद्दावर नेता ‘दारा सिंह चौहान’, राज्यसभा के सदस्य रहे ‘जुगल किशोर’, उत्तर प्रदेश में बसपा सरकार में मंत्री रहे फतह ‘बहादुर सिंह’ शामिल हुए, तो वहीं कांग्रेस का बड़ा नाम रहे अवतार सिंह भड़ाना भी भाजपा में शामिल हुए थे।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,683,250
Confirmed Cases
Updated on February 5, 2023 4:09 AM
530,745
Total deaths
Updated on February 5, 2023 4:09 AM
1,792
Total active cases
Updated on February 5, 2023 4:09 AM
44,150,713
Total recovered
Updated on February 5, 2023 4:09 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles