spot_img
25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

तृणमूल ने बंगाल के राज्यपाल को वापस बुलाने की मांग की, धनखड़ ने किया पलटवार

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल आए दिन राज्य की कानून-व्यवस्था समेत तमाम चीजों को लेकर सरकार पर निशाना साधते रहते हैं, जिस पर सीएम ममता भी पलटवार करती हैं। बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ के खिलाफ लड़ाई को तेज करते हुए उन्हें ‘संवैधानिक सीमाओं का उल्लंघन’ करने पर वापस बुलाने की मांग की। इससे क्रोधित धनखड़ ने पलटवार करते हुए दावा किया कि राज्य में स्वतंत्र एवं पारदर्शी चुनाव नहीं हुए और यह सुनिश्चित करना उनका कर्तव्य है कि लोग बिना भय के अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें।

तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य शुखेंदु शेखर रॉय ने कहा कि पार्टी सांसदों की टीम ने मंगलवार को राष्ट्रपति को पत्र भेजा है, जिसमें धनखड़ द्वारा हाल में ऐसे कथित उल्लंघनों की सूची दी गई है और संविधान के अनुच्छेद-156 (1) के तहत कार्रवाई करने की मांग की गई है। रॉय ने कहा, संविधान के अनुच्छेद-156 की धारा-1 के तहत राष्ट्रपति की इच्छा तक राज्यपाल पद पर आसीन होता है। हम राष्ट्रपति से मांग करते हैं कि इस इच्छा को वापस ले जिसका अभिप्राय है कि वह इन राज्यपाल को हटाएं।

उन्होंने कहा, हमने देखा है कि पिछले साल जुलाई में जब से वह राज्य में आए हैं वह नियमित रूप से ट्वीट कर रहे हैं, संवाददाता सम्मेलन कर रहे हैं और टेलीविजन चैनलों की चर्चाओं में शामिल हो रहे हैं जहां पर वह नियमित रूप से राज्य सरकार के कामकाज, हमारे अधिकारियों, मंत्रियों और मुख्यमंत्री पर टिप्पणी कर रहे हैं। यहां तक एक बार उन्होंने विधानसभा के स्पीकर के आचरण पर टिप्पणी की। उनका ऐसा प्रत्येक कदम उनके संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन है।

तृणमूल सांसद ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार को असहज करने के लिए धनखड़ भाजपा नीत केंद्र सरकार की ओर से इस तरह के बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘ऐसा पश्चिम बंगाल के 75 साल के इतिहास में नहीं हुआ, अगर उन्हें कुछ कहना है तो वह संविधान में दिए गए तरीके से ऐसा कर सकते हैं न कि ट्वीट या प्रेस वार्ता करके।’ऐसा प्रतीत हो रहा है कि धनखड़ ममता बनर्जी सरकार के साथ युद्ध की स्थिति में हैं। उन्होंने पलटवार करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करना उनका कर्तव्य है कि लोगों को बिना भय मताधिकार का इस्तेमाल करने का अवसर प्राप्त हो।

कोलकाता हाईकोर्ट का फैसला, अपनी पसंद से कर सकते है शादी और धर्म परिवर्तन

कोलकाता स्थित एक मंदिर में दर्शन के लिए जाते समय धनखड़ ने बातचीत में कहा, ‘बिना भय (राज्य में) स्वतंत्र एवं पारदर्शी चुनाव नहीं हुए।’राज्यपाल ने कहा कि लोग किसके पक्ष में मतदान करते हैं यह उनकी चिंता का विषय नहीं है लेकिन यह सुनिश्चित करना उनका कर्तव्य है कि लोग बिना किसी भय के अपने मताधिकार का प्रयोग करें। उन्होंने सरकारी मशीनरी को बंगाल चुनाव के दौरान निष्पक्ष रहने का आह्वान किया जो संभवत: अगले साल अप्रैल-मई में होगा।

बंगाल के किसानों को पीएम-किसान के लाभ से वंचित करने पर PM मोदी ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना

धनखड़ अक्सर राज्य के प्रशासन और पुलिस पर ममता बनर्जी सरकार के दबाव में काम करने का आरोप लगाते रहे हैं। रॉय ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ के उन बयानों को रेखांकित किया जिसमें उन्होंने पश्चिम बंगाल व्यापार सम्मेलन पर हुए खर्च का हिसाब मांगा था और ‘25 IPS अधिकारियों’ को कथित धमकी देने के लिए मुख्यमंत्री से माफी की मांग की थी। उन्होंने कहा कि राज्यपाल अपने अधिकारों और सीमाओं का उल्लंघन कर रहे हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राज्यपाल अपने संवैधानिक कर्तव्य का अनुपालन कर रहे हैं, उन्होंने पाया कि राज्य सरकार कई मानदंडों पर सही काम नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं मानता कि तृणमूल कांग्रेस द्वारा राज्यपाल को हटाने के लिए राष्ट्रपति का रुख करने से कोई असर होगा। राष्ट्रपति राज्यपाल की भूमिका पर अपनी समझ से कार्यवाही करेंगे।’

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘‘राज्यपाल राज्य के प्रमुख होने के नाते संवैधानिक मापदंड़ों के तहत काम कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस ऐसा कर रही है क्योंकि वह भयभीत है।’’

Priya Tomar
Priya Tomar
I am Priya Tomar working as Sub Editor. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Reporting, Editing and Photography .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

44,595,617
Confirmed Cases
Updated on October 3, 2022 5:23 AM
528,673
Total deaths
Updated on October 3, 2022 5:23 AM
38,574
Total active cases
Updated on October 3, 2022 5:23 AM
44,028,370
Total recovered
Updated on October 3, 2022 5:23 AM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles