spot_img
35.1 C
New Delhi
Saturday, May 28, 2022

International Women’s Day 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है? जानें इस साल की थीम

नई दिल्ली। आज दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day 2022) मनाया जा रहा है। हर साल 8 मार्च के दिन अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। महिलाओं के योगदान की वैसे तो हर दिन ही सराहना की जानी चाहिए, लेकिन फिर भी उनके योगदान और सम्मान में एक खास दिन निर्धारित किया गया है। आखिर क्या आप जानते हैं कि, इस दिन को मनाने की शुरुआत कैसे हुई और किसने की थी। हम आपको बताते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) के लिए यही तारीख क्यों चुनी गई है।

International Women’s Day: नारी शक्ति का परिचय देने वाली इन फिल्मों को देखना ना भूले…
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की विशेष थीम

हर साल इस अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस एक विशेष थीम (International Women’s Day Theme) के साथ मनाया जाता है। इस वर्ष के अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम ‘breaking the bias’ है। हालांकि भारत में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम ‘सस्टेनेबल कल के लिए लैंगिक समानता’ (gender equality today for a sustainable tomorrow) है। 8 मार्च का यह खास दिन महिलाओं को समान हक, सम्मान को लेकर जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है।

International Women’s Day: 08 मार्च क्यों है खास?

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की मनाने का विचार एक मजदूर आंदोलन से उत्पन्न हुआ था। साल 1908 में जब 15 हज़ार महिलाओं ने न्यूयॉर्क शहर में रैली निकाली थी, जिसकी मांग थी नौकरी के घंटे कम करना, काम के हिसाब से वेतन देना और साथ ही मतदान का भी अधिकार। इस घटना के ठीक एक साल बाद सोशलिस्ट पार्टी ऑफ़ अमरीका ने इस दिन को पहला राष्ट्रीय महिला दिवस घोषित कर दिया।

साल 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्जरलैंड में सबसे पहला अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया था। 1975 में वुमन्स डे को ऑफिशियल मान्यता उस वक्त दी गई थी, जब संयुक्त राष्ट्र ने इसे वार्षिक तौर पर एक विशेष थीम के साथ मनाना शुरू किया था। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पहली थीम थी ‘सेलीब्रेटिंग द पास्ट, प्लानिंग फॉर द फ्यूचर।

इस दिन को मनाने का उद्देश्य

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य है। महिलाओं को हर वो अधिकार प्रदान किए जाए, जो एक सामान्य नागरिक को दिए जाते हैं। भेदभाव ही उनके पीछे रहने की सबसे बड़ी वजह है।

नारी शक्ति पुरस्कार

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद(President Ram Nath Kovind) वर्ष 2020 और 2021 के लिए 29 हस्तियों को प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कारों से सम्मानित करेंगे। कार्यक्रम 8 मार्च को राष्ट्रपति भवन में आयोजित किया जाएगा। वर्ष 2020 का पुरस्कार समारोह कोविड-19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण 2021 में आयोजित नहीं हो पाया था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें
Archana Kanaujiya
Archana Kanaujiya
I am Archana Kanaujiya working as Content Writer/Content Creator. I have more than 2 years of experience in Content Writing, Editing and Photography.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

INDIA COVID-19 Statistics

43,150,215
Confirmed Cases
Updated on May 28, 2022 11:07 PM
524,572
Total deaths
Updated on May 28, 2022 11:07 PM
16,308
Total active cases
Updated on May 28, 2022 11:07 PM
42,609,335
Total recovered
Updated on May 28, 2022 11:07 PM
- Advertisement -spot_img

Latest Articles